देश में पहली बार चली अंडर ग्राउंड ट्रेन बुधवार को हुंगली नदी से होते कोलकाता से हावड़ा की और रवाना हुई थी।
यह देश का सबसे गहरा अंडर ग्राउंड मेट्रो स्टेशन है ये स्टेशन करीब जमीन से 33 मीटर नीचे है।
यह देश का सबसे गहरा अंडर ग्राउंड मेट्रो स्टेशन है ये स्टेशन करीब जमीन से 33 मीटर नीचे है।
इसमें पटरियों पे इलेक्ट्रीशियन नहीं किया गया । व सियालदाह से एस्प्लेनेड तक मेट्रो ट्रेन को बैटरी से चलाया जायेगा।
अंडर वाटर ट्रेन का ट्रैक 4.8 किलोमीटर लंबा है मेट्रो ट्रेन की सुरंग बनाने में लगभग 120 करोड का खर्च हुआ है।
हावड़ा पहुंचने पर हुई ट्रेन की पूजा मेट्रो ट्रेन की समय सारणी भी तय कर दी गई है